Kusum Yojana में रजिस्ट्रेशन कैसे करें? PM Kusum Yojana 2023

kusum Yojana

Kusum Yojana: केंद्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा किसानों के हित के लिए समय-समय पर कई तरह के योजनाओं एवं सुविधाओं का लाभ दिया जाता है। एक ऐसे ही योजना किसानों के लिए शुरू की गई है जिसका नाम कुसुम योजना है। भारत के अलग-अलग राज्यों में कुसुम योजना की शुरुआत हो चुकी है और लाखों किसान सोलर पंप लगवाने के लिए आवेदन भी कर रहे हैं। कुसुम योजना के तहत किसानों को सिंचाई के लिए सोलर ऊर्जा से चलने वाले उपकरण उपलब्ध करवाए जाएंगे। इसके अलावा डीजल और पेट्रोल से चलने वाले सिंचाई पंपों को भी सौर ऊर्जा से चलने वाले पंपों में बदल दिया जाएगा।

 भारत के कुछ मुख्य राज्य जैसे पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, मध्य प्रदेश और बिहार जैसे राज्यों में कुसुम योजना की शुरुआत हो चुकी है। पीएम कुसुम योजना का लाभ लेने के लिए किसानों को किसी एवं उर्जा मंत्रालय की ऑफिशियल वेबसाइट के द्वारा आवेदन करना होता है और सभी पात्रता को पूरी करनी होती है। इस आर्टिकल में हम आपको तीन कसम योजना के बारे में पूरी जानकारी देंगे। इस आर्टिकल को पढ़कर पीएम कुसुम योजना रजिस्ट्रेशन पात्रता, लाभ एवं इसमें आने वाली लागत के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

PM Kusum Yojana 2023

kusum Yojana

प्रधानमंत्री कुसुम योजना की शुरुआत वित्त मंत्री अरुण जेटली के द्वारा की गई थी। इस योजना को देश के किसानों को ध्यान में रखकर शुरू किया गया था। हम सभी जानते हैं कि भारत के कुछ राज्य ऐसे हैं जहां पर किसानों को सुखा जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है और ऐसे में उनका फसल बर्बाद हो जाता है। इस योजना के तहत किसानों के लिए सोलर ऊर्जा से चलने वाले सिंचाई संसाधनों को उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा गया है। इस योजना के लिए सरकार द्वारा कुल  34400 करोड़ों रुपए की राशि का आवंटन किया गया था।

इस योजना का लाभ जो किसान लेना चाहते हैं उन्हें कुल लागत का 60% केंद्र सरकार द्वारा दिया जाएगा और 30% राशि बैंक द्वारा एवं 10% राशि किसानों को देना पड़ता है। भारत के कई राज्यों में इस योजना की शुरुआत होने के बाद वहां के किसान सोलर ऊर्जा से चलने वाले सिंचाई संसाधनों का इस्तेमाल कर रहे हैं एवं जिन किसानों के पास पहले से डीजल में पेट्रोल से चलने वाले सिंचाई संसाधन थे उन्हें अब सौर ऊर्जा से चलने वाले संसाधनों में बदला जा रहा है। 

पीएम कुसुम योजना की शुरुआत होने से किसानों को सिंचाई में आने वाले लागत में काफी कमी आई है। सोलर पंप द्वारा सिंचाई करने से उनके सिंचाई में आने वाली लागत कम होने के साथ-साथ उनकी आय में भी बढ़ोतरी हुई है। सौर ऊर्जा से इतनी बिजली उत्पन्न होती है कि किसान खेतों की सिंचाई करने के बाद बची हुई बिजली को सरकार को भी बेच कर अपनी आय में बढ़ोतरी कर सकते हैं। इस योजना के तहत लगने वाला सोलर पंप 25 वर्षों तक चल सकता है और इसका रखरखाव करना भी बहुत आसान होता है।

प्रधानमंत्री कुसुम योजना को शुरू करने का उद्देश्य

प्रधानमंत्री कुसुम योजना को मुख्य रूप से किसानों के हित के लिए शुरू किया गया है। इस योजना को शुरू करने का सरकार का सबसे बड़ा उद्देश्य है कि किसानों के सिंचाई में आने वाली लागत को कम से कम किया जा सके एवं उनकी आय में बढ़ोतरी हो सके। इसके अलावा कई ऐसे स्थान जहां पर पानी की बहुत कमी है एवं सुखा पड़ जाता है वहां पर इन सिंचाई संसाधनों से सिंचाई करने में आसानी होगी।

सोलर पंप लगवाने से किसान अपनी खेत में सिंचाई करने के बाद बची हुई बिजली को अपने घरों में भी इस्तेमाल कर सकते हैं या ज्यादा मात्रा में बिजली उपलब्ध होने पर सरकार को बेचकर भी पैसा कमा सकते हैं। 

PM Kusum Yojana की लाभ और विशेषताएं

kusum Yojana

प्रधानमंत्री कुसुम योजना की शुरुआत होने के बाद देश के किसानों को अनेकों फायदे मिले हैं। यहां पर हमने इस योजना से जुड़ी कुछ लाभ और विशेषताओं के बारे में बताया है।

  • कुसुम योजना के तहत कोई भी किसान सोलर पंप लगवा सकता है क्योंकि उन्हें कुल लागत का केवल 10% भुगतान करना पड़ता है।
  •  इस योजना की शुरुआत होने के बाद वैसे क्षेत्र जहां सिंचाई की संसाधन उपलब्ध नहीं होने के कारण फसल नहीं होते थे अब उन जगहों पर भी फसल उगाने में मदद मिलेगी।
  •  इस योजना से किसानों को सिंचाई में आने वाली लागत कम होगी और आय में बढ़ोतरी होगी।
  • एक बार सोलर पैनल लगवाने के बाद इसका रखरखाव करना बहुत आसान होता है।
  • वैसे किसान जो अपनी फसल बर्बाद होने की वजह से और आर्थिक तंगी की वजह से गलत कदम उठा लेते थे उन किसानों को बचाया जा सकता है।
  •  इस योजना के तहत सिंचाई में लगने वाली ऊर्जा खर्च होने के बाद जो ऊर्जा बचेगी उसका इस्तेमाल किसान अपने घरों में कर सकते हैं।
  • अगर किसानों के पास ज्यादा मात्रा में बिजली बचती है तो वह इसे सरकार को भी बेच कर आय में बढ़ोतरी कर सकते हैं।
  • इस योजना की शुरुआत होने से पर्यावरण पर भी प्रभाव पड़ेगा क्योंकि यह पूरी तरह सौर ऊर्जा से स्वचालित होता है।
  •  योजना के लिए आवेदन करने के बाद किसानों को सिर्फ 60 दिन से 90 दिनों के भीतर ही सोलर पंप लगवा दिया जाता है।

कुसुम योजना में आवेदन करने के लिए आवश्यक दस्तावेजों की सूची

 अगर आप एक किसान हैं और कुसुम योजना के तहत सोलर पंप लगवाना चाहते हैं तो इसके लिए सर्वप्रथम आवेदन करना होता है और आवेदन करते समय आपके पास निम्न दस्तावेज मौजूद होने चाहिए।

  •  आधार कार्ड
  •  वोटर आईडी कार्ड
  •  राशन कार्ड
  •  बैंक खाता
  • जमीन के कागजात
  •  निवास प्रमाण पत्र
  •  मोबाइल नंबर
  •  ईमेल एड्रेस
  •  आय प्रमाण पत्र
  •  पासपोर्ट साइज फोटो
  •  किसान साबित करने के लिए प्रमाण पत्र

Kusum Yojana में रजिस्ट्रेशन कैसे करें?

 प्रधानमंत्री कौशल योजना के तहत सोलर पंप लगवाने के लिए सभी राज्यों की अलग-अलग अधिकारिक वेबसाइट है। आप जिस राज्य के निवासी हैं उस राज्य के आधिकारिक वेबसाइट को विजिट करके आसानी से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। कुसुम योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आप कृषि एवं ऊर्जा मंत्रालय की ऑफिशियल वेबसाइट से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं एवं ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं यहां पर हमने कुछ मुख्य राज्यों के नागरिकों के लिए कुसुम योजना सोलर पंप के लिए आवेदन करने का तरीका बताया है।

PM Kusum Yojana UP

अगर आप उत्तर प्रदेश के निवासी हैं और कुसुम योजना के तहत सोलर पंप लगवाना चाहते हैं तो यहां पर दिए गए सभी प्रक्रियाओं को फॉलो करके आसानी से घर बैठे हैं ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

  • कुसुम योजना उत्तर प्रदेश के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिए सबसे पहले ऑफिशियल वेबसाइट upneda.org.in पर विजिट करें।
  • वेबसाइट पर वेट करने के बाद होम पेज खुलेगा जहां पर आपको कुसुम योजना का विकल्प मिलेगा।
  •  यहां पर आपको कुसुम योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करने का लिंक भी मिल जाएगा।
  •  लिंक पर क्लिक करते हैं आपके सामने एक आवेदन फॉर्म खुल जाएगा जिसमें आपको व्यक्तिगत जानकारियों के अलावा मांगी गई सभी जानकारियों को ध्यानपूर्वक भरना होगा।
  •  सभी जानकारियों को भरने के बाद आवश्यक दस्तावेजों को स्कैन करके अपलोड करना होगा और सबमिट करना होगा।
  •  सबमिट करते ही आपका आवेदन पूरा हो जाएगा और कुछ दिनों के बाद कंपनी मेंबर आपको कॉल करके आपको जानकारी देंगे और आपका सोलर पंप लगाने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।

PM Kusum Yojana Madhya Pradesh

मध्य प्रदेश के बहुत सारे किसान इस योजना के तहत अपने खेत में सोलर पंप लगवा रहे हैं और कुछ लोग ऑनलाइन आवेदन करके सोलर पंप लगवाना चाहते हैं। यहां पर हमने मध्य प्रदेश के नागरिकों के लिए ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया के बारे में है स्टेप बाय स्टेप जानकारी दी है।

  •  मध्य प्रदेश कुसुम योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिए सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट cmsolarpump.mp.gov.in पर विजिट करें।
  •  वेबसाइट पर विजिट करने के बाद आपके सामने होम पेज खुलेगा जहां पर आपको कुसुम योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करने का ऑप्शन मिलेगा।
  • यहां पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुलेगा जिसमें मांगी गई सभी जानकारियों को भरना होगा।
  •  यहां पर आपको व्यक्तिगत जानकारियों के अलावा जमीन से संबंधित जानकारियां मांगी जाएगी जिन्हें ध्यान पूर्वक भरना होगा।
  •  अब आप सभी दस्तावेजों को स्कैन करें और अपलोड करें।
  •  सभी जानकारियां दर्ज करने एवं दस्तावेजों को अपलोड करने के बाद सबमिट बटन पर क्लिक करते ही आपका आवेदन पूरा हो जाएगा।
  •  आवेदन पूरा होने के बाद 30 से 90 दिनों का समय लगता है और आपका सोलर पंप लगाया जाता है।

Kusum Yojana Solar pump Haryana

हरियाणा राज्य में बहुत सारे किसान हैं और उन्हें भी कुसुम योजना के तहत सोलर पंप लगवाने की आवश्यकता होती है। यहां आप हरियाणा राज्य कुसुम योजना सोलर पंप लगवाने की प्रक्रिया के बारे में जान सकते हैं।

  • हरियाणा राज्य के नागरिक कुसुम योजना के लिए आवेदन करने के लिए सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट hareda.gov.in पर विजिट करें। 
  • वेबसाइट पर विजिट करने के बाद होम पेज पर आपको सोलर पंप से संबंधित रजिस्ट्रेशन हेतु विकल्प मिलेगा जहां पर आप क्लिक करना होगा।
  •  इसके बाद आपके सामने  एक नई स्क्रीन ओपन होगी और यहां पर आपको रजिस्ट्रेशन फ्रॉम प्राप्त होगा।
  •  इस रजिस्ट्रेशन फॉर्म में आपको मांगी गई सभी जानकारियों को दर्ज करना होगा और सभी जानकारियों को दर्ज करने के बाद अंत में जरूर चेक करें।
  •  इसके बाद सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अपलोड करें और सबमिट बटन पर क्लिक करें।
  •  क्लिक करते ही आपका आवेदन पूरा हो जाएगा और आपको 30 दिनों से लेकर 90 दिनों तक इंतजार करना होगा।

Kusum Yojana Solar Pump Rajasthan

राजस्थान के नागरिकों के लिए भी कुसुम योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया यहां पर बताई गई है। यहां पर दिए गए जानकारियों को स्टेप बाय स्टेप फॉलो करके आप आसानी से कुसुम योजना सोलर पंप के लिए आवेदन कर सकते हैं।

  • राजस्थान के नागरिक सोलर पंप लगवाने हेतु आवेदन करने के लिए सबसे पहले राजस्थान एनर्जी पोर्टल http://rreclmis.energy.rajasthan.gov.in/kusum.aspx पर विजिट करें।
  •  पोर्टल पर विजिट करने के बाद होम पेज पर आपको कुसुम योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करने का ऑप्शन मिल जाएगा।
  • यहां पर क्लिक करने के बाद आपके सामने रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुलेगा जिसमें मांगी गई सभी जानकारियों को सही सही भरना होगा।
  • सभी जानकारियों को सही सही दर्ज करने के बाद सभी दस्तावेजों को अपलोड करें और सबमिट बटन पर क्लिक करें।
  •  सबमिट बटन पर क्लिक करते ही आपका आवेदन पूरा हो जाएगा और आप 30 दिनों से लेकर 90 दिनों तक इंतजार कर सकते हैं।

कुसुम योजना सोलर पंप से जुड़ी समस्याओं के लिए हेल्पलाइन नंबर

अगर आप सोलर पंप लगवाना चाहते हैं या अपने सोलर पंप लगवाया है और कोई समस्या आ रही है तो आप नीचे दिए गए हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करके जानकारी पा सकते हैं एवं अपनी समस्या का हल पा सकते हैं।

Helpline Number – 18001803333, 011-243600707, 011-24360404

कुसुम योजना सोलर पंप के लिए आवेदन करने हेतु कुछ सावधानियां

आज का युग डिजिटल युग है और हर क्षेत्र में लोगों की सुविधाओं के लिए ऑनलाइन पोर्टल की शुरूआत की जाती है। कुसुम योजना सोलर पंप लगवाने के लिए भी लोगों को ऑनलाइन आवेदन करना पड़ता है। लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं कि आजकल कुछ लोग ऐसे हैं जो सोलर पंप लगवाने के नाम पर लोगों से धोखाधड़ी कर रहे हैं। यहां पर हमने कुसुम योजना में ऑनलाइन आवेदन करने से संबंधित कुछ सावधानियों के बारे में बताया है जिसे अगर आप फॉलो करते हैं तो आप कभी भी धोखे बाजो के झांसे में नहीं आ सकते हैं।

  • जब आप गूगल पर कुसुम योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिए सर्च करते हैं तो आपको वहां पर बहुत सारी वेबसाइट मिल जाती है जो दावा करती है कि वह कुसुम योजना सोलर पंप लगवाती है। लेकिन मुख्य वेबसाइट को छोड़कर बाकी सभी वेबसाइट फर्जी होती है और अगर आपने उनके वेबसाइट पर आवेदन किया तो वह आपसे सोलर पंप लगवाने के नाम पर धोखाधड़ी कर लेंगे।
  • कुसुम योजना सोलर पंप के लिए जब आप आवेदन करें तो हमेशा यह ध्यान दें कि वह अधिकारिक वेबसाइट https://pmkusum.mnre.gov.in/ ही हो ना कि कोई फर्जी वेबसाइट।
  • जब आप फर्जी वेबसाइट पर आवेदन करते हैं तब वह व्यक्ति 2 से 3 दिनों के भीतर ही आपसे संपर्क करता है और अपने सभी दस्तावेजों की मांग करता है। इसके बाद वह आपसे सोलर पंप लगवाने हेतु रजिस्ट्रेशन फीस की मांग करता है। हमेशा ध्यान देगी कभी भी कुसुम योजना सोलर पंप लगवाने के लिए कोई भी फीस ऑनलाइन नहीं जमा करनी होती है।
  •  जब आप ऑनलाइन आवेदन करते हैं तो यह ध्यान दें कि जब तक आपके लोकेशन पर कोई व्यक्ति आपके जमीन का मुआयना करने नहीं आता है या आप किसी नजदीकी ऑफिस में नहीं जाते हैं तब तक आपको कोई भी पेमेंट देने की जरूरत नहीं है।
  • कुसुम योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करने की बात अगर आप से कोई संपर्क करके आपके दस्तावेजों की मांग करता है तो भूलकर भी ऑनलाइन कोई भी दस्तावेज सबमिट ना करें।
  •  फर्जी कंपनी के लोग आपको ऐसे ऐसे लुभावनी जानकारियां देंगे जिससे आप उनके झांसे में आ सकते हैं यानी वह आपको झांसे में लेने के लिए किसी तरह का भी दावा कर सकते हैं।
  • कुसुम योजना के मुख्य वेबसाइट पर आवेदन करने के बाद कम से कम 30 दिनों से लेकर 90 दिनों का समय लगता है लेकिन फर्जी कंपनी के लोग आपसे यह कहेंगे कि आपका सोलर पंप 5 या 10 दिनों के भीतर लगा दिया जाएगा। अगर ऐसा कोई कहता है तो समझ जाना चाहिए कि वह व्यक्ति फर्जी है।
  • जब आप किसी वेबसाइट पर आवेदन करते हैं और दस्तावेज श्रमिक करते हैं तब आपको वह व्यक्ति कोई ना कोई दस्तावेज भेजता है। अगर आपको कोई ऐसा दस्तावेज मिले तो उसे कुसुम योजना के ऑफिस या बैंक में जाकर जरूर दिखाएं। वह दस्तावेज सत्यापन होने के बाद ही आप कोई आवेदन फीस जमा करें।

 

Read also – मछली फार्म कैसे शुरू करें? Fish Farming Business 2023
Conclusion

इस आर्टिकल में हमने कुसुम योजना सोलर पंप लगवाने से संबंधित सभीजानकारियां विस्तारपूर्वक दी है। यहां पर हमने कुछ राज्यों के नागरिकों के लिए ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया भी बताई है। इसके अलावा कुसुम योजना ऑनलाइन आवेदन करने से जुड़ी सावधानियों के बारे में भी बताया है। अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो आप अपने मित्रों और सगे संबंधियों के साथ साझा कर सकते हैं।

FAQ

प्रधानमंत्री कुसुम योजना की आधिकारिक वेबसाइट क्या है?

प्रधानमंत्री कुसुम योजना की आधिकारिक वेबसाइट https://pmkusum.mnre.gov.in/ है। इस वेबसाइट पर आप कुसुम योजना से जुड़ी सभी जानकारियां प्राप्त कर सकते हैं एवं ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। 

कुसुम योजना से जुड़ी समस्याओं के लिए हेल्पलाइन नंबर क्या है?

 अगर आप कुसुम योजना के लिए आवेदन करने हेतु जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं या सोलर पंप से जुड़ी कोई आने जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हेल्पलाइन नंबर 1800 180 0005 पर संपर्क कर सकते हैं। 

कुसुम योजना के तहत कितनी सब्सिडी दी जाती है?

 कुसुम योजना के तहत सोलर पंप लगवाने पर किसानों को 90% सब्सिडी दी जाती है और शेष राशि किसानों को भुगतान करना पड़ता है। 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *